You are currently viewing Mukhyamantri Bal Seva Yojana 2022 : Online Application , Eligibility यूपी बाल सेवा योजना रजिस्ट्रेशन

Mukhyamantri Bal Seva Yojana 2022 : Online Application , Eligibility यूपी बाल सेवा योजना रजिस्ट्रेशन

Mukhyamantri Bal Seva Yojana । उत्तरप्रदेश बाल सेवा योजना  । मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना में आवेदन कैसे करे । Bal Seva Yojana Online Apply । मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के लाभ  । UP Bal Seva Yojana Application Form

Mukhyamantri Bal Seva Yojana 2022 यह योजना उत्तरप्रदेश सरकार की ओर से चलाई जा रही योजनाओं में से एक है । देश में दिन प्रतिदिन कोरोना का साया बढ़ ही रहा है जिसके कारण बहुत से लोगों को अपनी जान गवानी पड़ रही है । इस योजना के द्वारा उत्तरप्रदेश सरकार ऐसे बच्चों को सुविधाएँ देंगीं ,जिन्होंने इस कोरोना काल में अपने माता – पिता या अभिभावक को खो दिया है । UP Bal Seva Yojana के तहत यूपी सरकार उन सभी बच्चों के पालन -पोषण में मदद करेगी । अब तक यूपी सरकार ने राज्य के ऐसे 197 बच्चों को चिन्हित किया है जो की अपने माता -पिता को खो चुके है और लगभग 1800 बच्चें ऐसे भी है जो की अपने माता -पिता में से किसी एक को खो चुके है

नमस्कार मित्रों, आज हमारे द्वरा आपको उत्तरप्रदेश सरकार की और से चलाई जा रही Bal Seva Yojana के बारे में जानकारी दी जाएगी । अगर आप भी उत्तरप्रदेश के निवासी है और मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना में आवेदन कैसे करे और Seva Yojana Uttarpradesh 2022 के बारे में जानकारी लेना चाहते है तो पोस्ट को अंत तक पूरा पढ़ें -:

क्या खास है पोस्ट में -

मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना 2022

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उन बच्चों के लिए एक कल्याणकारी योजना शुरू की है, जिन्होंने कोविड -19 के कारण एक या दोनों माता-पिता को खो दिया है। जिन बच्चों ने अपने माता-पिता दोनों को कोविड -19 को खो दिया है, एक जीवित माता-पिता, कानूनी अभिभावक यदि माता-पिता पहले ही मर चुके हैं, तो इस योजना में शामिल किए जाएंगे। जिन बच्चों ने अपने परिवार के कमाने वाले माता-पिता को खो दिया है, उन्हें भी योजना में शामिल किया जाएगा।

‘उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना’ के तहत, राज्य सरकार एक बच्चे के अभिभावक को वित्तीय सहायता प्रदान करेगी, जबकि जिनके पास उनकी देखभाल करने के लिए कोई नहीं है उन्हें बाल गृह भेजा जाएगा।

नाबालिग लड़कियों की देखभाल सुनिश्चित की जाएगी। उन्हें भारत सरकार द्वारा संचालित कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालयों (आवासीय) या राज्य सरकार द्वारा संचालित सरकारी बाल गृह (बालिका) में रखा जाएगा। जहां उनके पालन-पोषण और शिक्षा की व्यवस्था होगी।

Mukhyamantri Bal Seva Yojana 2022Highlights

योजना का नाम मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना
योजना क्षेत्र उत्तरप्रदेश
किसने लागु की CM योगी जी
कब लागु की गयी 30 मई 2021
योजना के उद्देश्य कोरोना से प्रभावित बच्चों की सहायता
योजाना के लाभार्थी प्रदेश के नागरिक
सहायता राशि 4 हजार रु. मात्र
आवेदन का प्रकार ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों
आधिकारिक वेबसाइट क्लिक करे

मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना क्या है ?

इस योजना के तहत, बच्चे के माता-पिता या देखभाल करने वाले को वयस्क होने तक 4,000 रुपये प्रति माह की वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी। इतना ही नहीं स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों को टैबलेट या लैपटॉप दिया जाएगा, फिर सरकार लड़कियों की शादी की भी उचित व्यवस्था करेगी. लड़कियों की शादी के लिए राज्य सरकार द्वारा 1,01,000 की राशि दी जाएगी।

Mukhyamantri Bal Seva Yojana 2022 New Update

बाल सेवा योजना के मुख्य उद्देश्य

UP Bal Seva Yojana का मुख्य उद्देश्य उन सभी असहाय बच्चों की मदद करना है जो की इस कोरोना काल में अपने माता -पिता या अभिभावक को खो चुके है। इस योजना के माध्यम से सरकार इन सभी बच्चों एक अच्छा जीवन जीनें के लिए प्रोत्साहित राशि प्रदान करेगी ताकि इस असहाय बच्चों के आगामी जीवन में कोई परेशानी न हो। मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना योजना को लागु करने के पीछे सरकार का एक मत यह भी है की कोई भी बच्चा इस कोरोना काल में शिक्षा से वंचित ना रहे इसी वजह से सरकार ऐसे बच्चों को आर्थिक सहायता दे रही है और अन्य सारी जिम्मेवारी भी वहन कर रही है ।

अवयस्क लड़कियों के लिए बाल सेवा योजना सम्बन्धी प्रावधान

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के माध्यम से उन सभी बालिकाओं को आवास और शिक्षा प्रदान करने की जिम्मेदारी भी ली जाएगी जो नाबालिग हैं। सभी पात्र बालिकाओं को भारत सरकार द्वारा संचालित कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय, राजकीय बाल गृह एवं राज्य सरकार द्वारा संचालित अटल आवासीय विद्यालय के माध्यम से शिक्षा एवं आवास प्रदान किया जायेगा। प्रदेश में इस समय करीब 13 बाल गृह संचालित हैं और 17 आवासीय विद्यालय चल रहे हैं। यह योजना सभी नाबालिग बच्चियों की देखभाल सुनिश्चित करने के लिए शुरू की गई है। अब प्रदेश की लड़कियां मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना का लाभ पाकर अपना जीवन यापन कर सकेंगी।

उत्तरप्रदेश मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना में कितनी आर्थिक सहायता मिलेगी ?

मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना 2021 के माध्यम से सभी पात्र लाभार्थियों को ₹ 4000 प्रति माह की वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी। यह वित्तीय सहायता बच्चे की देखभाल के लिए होगी। यह वित्तीय सहायता बच्चे के वयस्क होने तक उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा प्रदान की जाएगी। इसके अलावा जिन बच्चों की उम्र 10 वर्ष या उससे कम है और उनका कोई अभिभावक नहीं है, उन्हें उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा ‘मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना’ के माध्यम से आवासीय सुविधा प्रदान की जाएगी। उन्हें सरकारी बाल गृह में आवास उपलब्ध कराकर यह आवासीय सुविधा प्रदान की जाएगी। ताकि उन सभी बच्चों का ध्यान रखा जा सके। वर्तमान में उत्तर प्रदेश में लगभग 5 सरकारी बाल गृह हैं जो मथुरा, लखनऊ, प्रयागराज, आगरा और रामपुर में स्थित हैं।

बाल सेवा योजना में लाभार्थी बच्चों की पहचान

योगी ने लगभग एक पखवाड़े पहले महिला एवं बाल विकास विभाग को ऐसे बच्चों की पहचान करने के साथ ही उनके विकास की समुचित व्यवस्था करने के लिए कार्य योजना बनाने के निर्देश दिए थे. अब तक जुटाई गई जानकारी के अनुसार राज्य में 197 बच्चों की पहचान की गई है, जिनके माता-पिता दोनों की मौत कोरोना संक्रमण से हुई है, जबकि 1799 बच्चों ने अपने माता-पिता में से किसी एक को खो दिया है. इन्ही बच्चों को UP Bal Seva Yojana हेतु चिन्हित किया गया है।

ITI प्रशिक्षुओं हेतु जारी की गयी शर्तें और नियम, पात्रता

इस योजना के तहत आईटीआई प्रशिक्षुओं को लाभ प्रदान करने का भी निर्णय लिया गया है। जिसके लिए शासकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान के प्राचार्य डॉ. नरेश कुमार द्वारा पात्रता शर्त 8 जून 2021 को जारी की गई थी। सभी पात्र हितग्राहियों को लैपटाप, टैबलेट, विवाह हेतु आर्थिक सहायता एवं मासिक सहायता प्रदान की जायेगी। वे सभी आईटीआई प्रशिक्षु जो इस योजना का लाभ प्राप्त करना चाहते हैं उन्हें अपने जिले के नोडल आईटीआई में आवेदन करना होगा। आईटीआई प्रशिक्षु के लिए पात्रता शर्तें इस प्रकार हैं-:

  • प्रशिक्षु की आयु 18 वर्ष से कम होनी चाहिए।
  • आवेदक के माता-पिता की कोरोना वायरस संक्रमण से मौत हो गई
  • इसके अलावा, यदि माता-पिता दोनों जीवित हैं लेकिन आय अर्जित करने वाले माता-पिता की मृत्यु कोरोना वायरस संक्रमण के कारण हुई है और जीवित माता-पिता की वार्षिक आय ₹ 200000 या उससे कम है, तो इस स्थिति में भी इस योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा। . किया जायेगा।
  • यदि आवेदक के माता-पिता की मृत्यु 1 मार्च 2020 से पहले हो गई है और कानूनी अभिभावक की मृत्यु कोरोना संक्रमण के कारण हुई है, तो वह भी इस योजना के लिए पात्र है।
  • उन बच्चों को भी मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना का लाभ मिल सकेगा, जिनके माता-पिता की मृत्यु कोरोना वायरस संक्रमण के कारण हुई है।

UP Bal Seva Yojana New Update

Under the Mukhyamantri Bal Seva Yojana, Rs 4000 per month will be transferred to the account of the legitimate guardian of children up to 10 years. Children who die of both the parents will be placed in child care institutions and will be admitted to Atal Residential or KGBV for children from class 6 to 12, where free education will be provided to children in the age group of 11 to 18 years.

Mukhyamantri Bal Seva Yojana Key Feature’s

👉 राज्य सरकार ऐसे बच्चों के जीवन में उन्नति के सभी अवसर प्राप्त करने के लिए सभी आवश्यक व्यवस्था करने के लिए तैयार है और इसी उद्देश्य से “उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना” शुरू की जा रही है।

👉 राज्य सरकार COVID-19 से अनाथ बच्चों के पालन-पोषण और शिक्षा का ध्यान रखेगी।

👉 योजना के तहत सरकार कोरोना से प्रभावित ऐसी लड़कियों की शादी की उचित व्यवस्था के लिए 1,01,000 धनराशी प्रदान करेगी

👉 10 साल से कम उम्र के जिन बच्चों के परिवार का कोई सदस्य नहीं है उनकी देखभाल राज्य सरकार के बाल गृह द्वारा की जाएगी।

उत्तरप्रदेश मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के लाभ और विशेषताएं

👉 इस योजना के माध्यम से उन सभी बच्चों की मदद की जाएगी जिनके माता-पिता की मृत्यु कोरोनावायरस संक्रमण के कारण हुई है।

👉 मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना की शुरुआत उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 30 मई 2021 को की है।

👉 इस योजना के तहत बच्चों को न केवल आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी, बल्कि उनकी शिक्षा से लेकर उनकी शादी तक का खर्च सरकार द्वारा वहन किया जाएगा।

👉 सभी पात्र बच्चों के पालन-पोषण के लिए उन्हें हर माह ₹4000 की सहायता राशि प्रदान की जाएगी।

👉 यह वित्तीय सहायता बच्चे के वयस्क होने तक प्रदान की जाएगी।

👉 इसके अलावा इस योजना के माध्यम से लड़कियों की शादी के लिए ₹101000 की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।

👉 यदि इस योजना के अंतर्गत आने वाले बच्चे की आयु 10 वर्ष से कम है और कोई अभिभावक नहीं है, तो ऐसी स्थिति में बच्चे को आवासीय सुविधा भी प्रदान की जाएगी।

👉 यह सुविधा शासकीय बाल गृह के माध्यम से प्रदान की जाएगी।

👉 इस योजना का लाभ उन बच्चों को भी दिया जाएगा जिन्होंने कोरोना संक्रमण के कारण अपने कानूनी अभिभावक या आय अर्जित करने वाले अभिभावक को खो दिया है।

👉 मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के माध्यम से पढ़ने वाले सभी बच्चों को लैपटॉप या टैबलेट भी उपलब्ध कराया जाएगा।

भारत सरकार द्वारा संचालित कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय, शासकीय बाल गृह एवं राज्य सरकार द्वारा संचालित अटल आवासीय विद्यालयों के माध्यम से सभी अवयस्क बालिकाओं को शिक्षा एवं आवास की सुविधा प्रदान की जायेगी।

UP Bal Seva Yojana 2021 के लिए क्या पात्रता होनी चाहिए ?

इस योजना का लाभ उठाने के लिए विशेष पात्रता को निर्धारित किया गया है ,जिनके अनुसार ही आवेदक को इस योजना के लिए पात्र समझा जायेगा . ये पात्रता सम्बन्धी शर्ते निम्न है -:

👉 आवेदक उत्तर प्रदेश का स्थायी निवासी होना चाहिए।

👉 केवल वें बच्चे ही पात्र होंगें जिन बच्चों ने COVID-19 के कारण अपने माता-पिता दोनों को खो दिया है।

👉 बच्चे की उम्र 18 साल या 18 साल से कम होनी चाहिए।

👉 एक परिवार के सभी बच्चे (जैविक और कानूनी रूप से गोद लिए गए) इस योजना का लाभ प्राप्त कर सकेंगे।

👉 कोरोना वायरस संक्रमण के कारण अपने कानूनी अभिभावक को खोने वाले बच्चे इस योजना के तहत पात्र हैं।

👉 वर्तमान में जीवित माता या पिता की आय ₹200000 या ₹200000 से कम होनी चाहिए।

👉 जिन बच्चों के माता-पिता एक ही जीवित थे और उनकी मृत्यु कोरोना वायरस संक्रमण के कारण हुई थी।

बाल सेवा योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज की सूची

अगर आप भी इस UP Bal Seva Yojana 2021 के लिए आवेदन करने जा रहें है तो आपके पास नीचे बताये जा रहें डॉक्यूमेंट होने चाहिए -:

👉 उत्तर प्रदेश का निवासी होने की घोषणा

👉 माता-पिता का मृत्यु प्रमाण पत्र

👉 बच्चे का आयु प्रमाण पत्र

👉 निवास का प्रमाण

👉 आधार कार्ड

👉 बच्चे और अभिभावक की नवीनतम तस्वीर

👉 आय प्रमाण पत्र (यदि माता-पिता दोनों की मृत्यु हो जाती है तो आय प्रमाण पत्र जमा करना आवश्यक नहीं है।)

👉 शैक्षणिक संस्थान में पंजीकरण का प्रमाण पत्र

मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना में ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया

अगर आप भी इस योजना में आवेदन करना चाहते है तो आपको नीचे बताई जा रही प्रक्रिया को फोलो करना होगा -:

  • इसके लिए सबसे पहले आपको महिला एंव बल विकास की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा ,जिसके लिए यहाँ क्लिक करे
  • अब आपके सामने होम पेज ओपन हो जायेगा
  • यहाँ पर आपको APPLY ONLINE पर क्लिक करना है
  • इसके बाद नये पेज में से बाल सेवा योजना के विकल्प को चुने और आगे बढ़ें
  • अब आपके सामने योजना में आवेदन का फॉर्म ओपन हो जायेगा ,जिसमें आपको मांगी गयी सभी डिटेल्स को सही से भरना होगा
  • इसके बाद आवश्यक दस्तावेजों को भी अपलोड करे
  • जब सभी जानकारी सही से भर दी जाये और पुन्न चेक कर लिया जाये तो सबमिट पर क्लिक करे
  • इस प्रकार आपका आवेदन पत्र जमा हो जायेगा और आप योजना में पंजीकृत हो जाओगे

👉 नोट -: अगर आप योजना के तहत ऑनलाइन आवेदन करना चाहते हैं तो आपको थोड़ा और इंतजार करना होगा। क्योंकि अब राज्य सरकार ने इस योजना की घोषणा कर दी है. जैसे ही हमें ऑनलाइन आवेदन की जानकारी मिलेगी हम आप तक जरूर पहुंचेंगे।

मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना में ऑफलाइन आवेदन की प्रक्रिया

वर्तमान में बाल सेवा योजना में ऑफलाइन आवेदन की प्रक्रिया बहुत ही सरल है ,इसके लिए आपको नीचे बताये जा रहे स्टेप्स को फ़ॉलो करना होगा -:

  • यदि आप ग्रामीण क्षेत्र में रहते हैं तो आपको ग्राम विकास/पंचायत अधिकारी या ब्लॉक या जिला परिवीक्षा अधिकारी के कार्यालय में जाना होगा और यदि आप शहरी क्षेत्र में रहते हैं तो आपको लेखपाल, तहसील या जिला परिवीक्षा अधिकारी के कार्यालय जाना होगा।
  • आपको इस योजना का आवेदन पत्र कार्यालय से प्राप्त करना होगा।
  • अब आपको आवेदन पत्र में पूछी गई सभी महत्वपूर्ण जानकारी जैसे आपका नाम, मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी आदि दर्ज करनी होगी।
  • इसके बाद आपको सभी जरूरी दस्तावेज अटैच करने होंगे।
  • अब आपको यह आवेदन पत्र कार्यालय में जमा करना होगा।
  • इस तरह आप यूपी मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के तहत आवेदन कर सकेंगे।
  • जिला बाल संरक्षण इकाई एवं बाल कल्याण समिति द्वारा पात्र बच्चों की पहचान कर 15 दिन के अंदर आवेदन प्रक्रिया पूरी कर ली जायेगी.
  • इस योजना के तहत माता-पिता की मृत्यु के 2 साल के भीतर आवेदन किया जा सकता है।
  • इस योजना का लाभ अनुमोदन प्राप्त होने की तिथि से प्रदान किया जाएगा।

Bal Seva Yojana में आवेदन कब तक किया जा सकता है ?

मुख्यमंत्री ने 'उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना' की शुरुआत की है। इसके तहत जिन बच्चों ने कोरोना काल में अपने माता-पिता को खो दिया है, उनके अभिभावक/कार्यवाहक को चार हजार रुपये की आर्थिक सहायता दी जाएगी। ऐसे बच्चों को मुफ्त शिक्षा और इलाज की सुविधा मिलेगी। इस योजना में आवेदन करने की कोई विशेष समय सीमा नहीं है योजना के तहत माता-पिता की मृत्यु के 2 साल के भीतर आवेदन किया जा सकता है

IMPORTANT LINKS

👉 OFFICIAL WEBSITE – click here

👉 OTHER – click here

Bal Seva Yojana FAQs

प्रश्न 1. बाल सेवा योजना कब और किसके द्वारा शुरू की गयी थी ?

उत्तर – इस योजना की शुरुवात उत्तरप्रदेश सरकार के द्वारा 30 मई 2021 को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने द्वारा की गयी थी ।

प्रश्न 2. Bal Seva Yojana में लाभार्थियों को कितनी प्रोत्साहन राशि दी जाएगी ?

उत्तर – इस योजना के तहत सभी पात्र बच्चों के पालन-पोषण के लिए उन्हें हर माह ₹4000 की सहायता राशि प्रदान की जाएगी।

प्रश्न 3. Bal Seva Yojana में कौन -कौन आवेदन कर सकता है ?

उत्तर – उन बच्चों को भी मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना का लाभ मिल सकेगा, जिनके माता-पिता की मृत्यु कोरोना वायरस संक्रमण के कारण हुई है। और इस योजना में उन सभी बच्चों को भी शामिल क्या जायेगा जो अपने माता -पिता में से किसी एक को कोरोना काल में गवां चुके है।

प्रश्न 4. मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना में आवेदन कैसे करे ?

उत्तर – यदि आप ग्रामीण क्षेत्र में रहते हैं तो आपको ग्राम विकास/पंचायत अधिकारी या ब्लॉक या जिला परिवीक्षा अधिकारी के कार्यालय में जाना होगा और यदि आप शहरी क्षेत्र में रहते हैं तो आपको लेखपाल, तहसील या जिला परिवीक्षा अधिकारी के कार्यालय जाना होगा।
आपको इस योजना का आवेदन पत्र कार्यालय से प्राप्त करना होगा।
अब आपको आवेदन पत्र में पूछी गई सभी महत्वपूर्ण जानकारी जैसे आपका नाम, मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी आदि दर्ज करनी होगी।
इसके बाद आपको सभी जरूरी दस्तावेज अटैच करने होंगे।
अब आपको यह आवेदन पत्र कार्यालय में जमा करना होगा।
इस तरह आप यूपी मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के तहत आवेदन कर सकेंगे।
जिला बाल संरक्षण इकाई एवं बाल कल्याण समिति द्वारा पात्र बच्चों की पहचान कर 15 दिन के अंदर आवेदन प्रक्रिया पूरी कर ली जायेगी.
इस योजना के तहत माता-पिता की मृत्यु के 2 साल के भीतर आवेदन किया जा सकता है।
इस योजना का लाभ अनुमोदन प्राप्त होने की तिथि से प्रदान किया जाएगा।

इस पोस्ट के माध्यम से हमारे द्वारा आपको बाल सेवा योजना के बारे में सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान जी गयी है , अगर आप इसके आलावा और कुछ जानना चाहते है तो हमें कॉमेंट्स करे

Mr. Admin

इस वेबसाइट पर हम सरकारी योजनाओं से जुडी पोस्ट को शेयर करते है ताकि आपको अपडेट रखा जा सके और सभी योजनाओं का आपको लाभ हो . इस वेबसाइट के माध्यम से सरकारी योजनाओ और अन्य जरूरी जानकारी को हिंदी भाषा में उपलब्ध करवाया जा रहा है

This Post Has 3 Comments

Leave a Reply