You are currently viewing किसान न्याय योजना छत्तीसगढ़ 2021:Rajiv Gandhi Kisan Nyay Yojana Online Application & Form

किसान न्याय योजना छत्तीसगढ़ 2021:Rajiv Gandhi Kisan Nyay Yojana Online Application & Form

Rajiv Gandhi Kisan Nyay Yojana Online Application । किसान न्याय योजना छत्तीसगढ़ । Kisan Nyay Yojana Form Download । RGKNY Scheme । किसान किसान न्याय योजना लिस्ट । राजीव गाँधी किसान न्याय योजना में आवेदन कैसे करे

राजीव गाँधी किसान न्याय योजना- छत्तीसगढ़ राज्य की सरकार के द्वारा इस योजना की शुरुवात प्रदेश के किसानों को उनकी फसल का उचित मूल्य प्रदान करने के लिए की गयी है । जैसा की आपको ज्ञात ही है की किसान पूर्णत: खेती पर ही निर्भर है और उसकी फसल की पैदावार का सही मूल्य मिलना किसान का हक़ है कित्नु कुछ कारणों से ऐसा हो नही रहा है इसी कारण से छत्तीसगढ़ की सरकार ने इस किसान हितैषी Rajiv Gandhi Kisan Nyay Yojana की शुरुवात की है जिसकी मदद से किसानों को अधिक से अधिक प्रोत्साहन मिलेगा ।

नमस्कार मित्रों , आज हम यहाँ पर आपके लिए किसान न्याय योजना छत्तीसगढ़ के बारे में महत्वपूर्ण अपडेट लेकर आये है । इस पोस्ट के माध्यम से आपको Kisan Nyay Yojana Online Application, किसान न्याय योजन लिस्ट इत्यादि के बारे में भी जानकारी दी जाएगी । इसके लिए पोस्ट को अंत तक पढ़ें –

Rajiv Gandhi Kisan Nyay Yojana 2021

किसान न्याय योजना छत्तीसगढ़ के तहत प्रदेश के किसानों को सरकार के द्वारा उनकी फसलों के पैदावार का अधिकतम लाभ दिया जायेगा . और लगभग 19 लाख किसानों को जो की प्रदेश में मक्का, धान , गन्ना आदि की खेती करते है को भी इस योजना का लाभ होगा । साथ ही साथ Kisan Nyay Yojana के माध्यम से धान की खेती करने वाले किसानों को भी 10 हजार रूपये प्रति एकड़ की हिसाब से मदद की जाएगी । इस योजना की शुरुवात राजीव गाँधी जी के शहादत दिवस यानि 21 मई को की गयी है । योजना का लाभ DBT के माध्यम से चार किस्तों में दिया जायेगा ।

राजीव गाँधी किसान न्याय योजना हाइलाइट्स

योजना का नाम Rajiv Gandhi Kisan Nyay Yojana
योजना क्षेत्र छत्तीसगढ़
किसने लागु की CM भूपेश बघेलजी द्वारा
योजना की घोषणा 3 मार्च 2020 को
योजना के उद्देश्य फसल उत्पादन बढ़ानें के साथ-साथ किसानों को उनकी फसल का अधिकतम और सही दाम दिलाना|
योजना के लाभार्थी प्रदेश के सभी किसान
कितनी फसलो को शमिल किया है 14 फसलों को
अधिकारिक वेबसाइट click here
हेल्पलाइन नंबर  0771-2512345

किसान न्याय योजना की पहली क़िस्त {Rajiv Gandhi Kisan Nyay Yojana First Installment}

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेलजी द्वारा वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग का आयोजन किया गया। इस वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए मुख्यमंत्री ने 22 लाख किसानों के खाते में राजीव गांधी किसान न्याय योजना की पहली किस्त के लिए 1500 करोड़ रुपये की राशि भेजी. खरीफ सीजन 2019-20 में लगभग 19 लाख किसानों ने इस योजना के तहत अपना पंजीकरण कराया था। सरकार द्वारा सभी पंजीकृत किसानों को चार किश्तों में 5628 करोड़ रुपये की राशि भेजी गई।

किसान न्याय योजना छत्तीसगढ़ में कौन -कौनसे बदलाव किये गये है ?

Rajiv Gandhi Kisan Nyay Yojana के तहत सरकार की ओर से कुछ बदलाव भी किए गए हैं। 2020-21 में समर्थन मूल्य पर धान बेचने वाले सभी किसान यदि धान के बदले में कुटकी, गन्ना, अरहर, मक्का, सोयाबीन, दालें, तिलहन, सुगंधित धान, फोर्टिफाइड धान आदि का उत्पादन करते हैं या फिर अपने पौधे लगाते समय, उन सभी किसानों को ₹10000 का विनिमय प्रदान किया जाएगा। यह अनुदान सभी बागान किसानों को 3 साल के लिए सरकार द्वारा प्रदान किया जाएगा।

इसके अलावा खरीफ वर्ष 2021-22 में धान की फसल के साथ-साथ मक्का, सोयाबीन, गन्ना, कुटकी, अरहर आदि खरीफ फसलों का उत्पादन करने वाले सभी किसानों को भी ₹9000 प्रति एकड़ प्रति वर्ष की सहायता प्रदान की जाएगी । छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा कोडो कुटकी का न्यूनतम समर्थन मूल्य ₹ 3000 प्रति क्विंटल निर्धारित किया गया है।

किसान न्याय योजना से कुल कितने किसानों को लाभ होगा ?

Rajiv Gandhi Kisan Nyay Yojana के माध्यम से प्रदेश के करीब 18.38 लाख किसानों को लाभ हुआ है । इस योजना में छत्तीसगढ़ के सीमांत किसानों और लघु किसानों के साथ -साथ बड़े किसानों को भी शामिल किया गया है । किसान न्याय योजना छत्तीसगढ़ में भूमि के आधार पर लाभ प्राप्त करने वाले किसानो की संख्या निम्न है –

🌟 सीमांत किसानों की संख्या – 9,55,531

🌟 लघु किसानों की संख्या – 5,61,523

🌟 बड़े किसानों की संख्या – 3,21,538

राजीव गाँधी किसान न्याय योजना में कौन -कौनसी फसलों के लिए सहायता राशि मिलेगी?

Kisan Nyay Yojana के शुरुवात में इसमें केवल धान और मक्के की फसलों को ही शामिल किया गया था किन्तु अभी इसमें बहुत सी और फसलो को भी शामिल किया गया है । जिससे अब राजीव गाँधी किसान न्याय योजना में 14 फसलों के लिए सहायता राशि मिल सकेगी । ये 14 फसलें निम्न है-

धान मक्का सोयाबीन
राम तिल मुंग मूंगफली
कोदो रागी तिल
अरहर उड़द कुटकी
कुल्थी गन्ना

किसान न्याय योजना के तहत अब गन्ना किसानों को सहायता राशि मिलेगी ?

यह योजना किसानो को उनकी फसल का अधिकतम मूल्य देने के लिए ही स्टार्ट की गयी है जिसके अनुसार किसानो से 355 रु. प्रति क्विंटल के रेट से गन्ना खरीदा गया था जिसमे गन्ने के मात्र के आधार पर इसकी कीमत { frp } 261 रु. प्रति क्विंटल है और 93.75 रु. सहायता राशि के रूप दिए गये है । Kisan Nyay Yojana में अब तक प्रदेश के लगभग 34292 किसानो को 74 करोड़ से भी अधिक की प्रोत्साहन राशि दे दी गयी है ।

Kisan Nyay Yojana के महत्वपूर्ण दिशा-निर्देश

  • इन सभी पंजीकृत किसानों के डेटा को राजीव गांधी किसान योजना के लिए मान्य किया जाएगा और राजस्व विभाग द्वारा क्षेत्रवार, फसल मूल्य कवरेज के साथ अन्य फसलों के लिए एक अन्य पोर्टल लॉन्च किया जाएगा।
  • धान, मक्का, गन्ना उत्पादक किसानों को छोड़कर अन्य फसलों के लिए विनिमय सहायता राशि की गणना की जाएगी। जिसके लिए भुइया पोर्टल से डाटा कलेक्ट किया जाएगा।
  • आवेदन का सत्यापन कृषि विस्तार अधिकारी द्वारा किया जाएगा। इसके बाद किसान को सहकारी समिति में अपना पंजीकरण कराना होगा और सभी आवश्यक दस्तावेजों के साथ फॉर्म वन जमा करना होगा। यह आवश्यक दस्तावेज ऋण पुस्तिका, आधार संख्या, बैंक पासबुक की एक फोटोकॉपी है।
  • इस योजना में उन्हीं फसलों को लाभ दिया जाएगा, जो दिशा-निर्देशों में दिए गए हैं। इसके अलावा किसी अन्य फसल पर इस योजना का लाभ नहीं दिया जाएगा।

राजीव गांधी किसान योजना के मुख्य उद्देश्य क्या है ?

  • फसल उत्पादन बढ़ानें के साथ-साथ किसानों को उनकी फसल का अधिकतम और सही दाम दिलाना|
  • फसल के उत्पादन लागतों की क्षतिपूर्ति कर किसानों के लाभों में वृद्धि करना।
  • किसानों को खेती करने और फसलों में अच्छे उत्पादनके लिए निवेशहेतु प्रोत्साहन देना।
  • कृषि को लाभ के व्यवसाय के रूप में पुर्नस्थापित करनें हेतु जीडीपी में कृषि क्षेत्र की सहभागिता में वृद्धि करना।
  • प्रदेश के किसानों को आत्मनिर्भर बनाना ।

Kisan Nyay Yojana 4th Installment

21 may को राजीव गांधी किसान योजना के तहत 18 लाख 53 हजार धान उगाने वाले किसानों के लिए चौथी किस्त जारी की जाएगी, जो 1 हजार 104 करोड़ 27 लाख रुपये होगी। इस योजना के तहत अब तक ₹4500 करोड़ का भुगतान किया जा चुका है। राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत पहली किश्त 21 मई 2020 को 1500 करोड़ रुपये में दी गई। इसके बाद 20 अगस्त 2020 को दूसरी किस्त 1500 करोड़ रुपये और नवंबर 2020 में 1500 करोड़ रुपये की तीसरी किस्त दी गई.

किसान न्याय योजना में पंजीयन की समय सीमा

राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत सरकार द्वारा पंजीकरण की समय सीमा बढ़ा दी गई है। ये पंजीकरण खरीफ वर्ष 2020 के लिए हैं। कृषि, किसान कल्याण और प्रौद्योगिकी विभाग ने अब समय सीमा बढ़ाकर 28 फरवरी 2021 तक पंजीकरण की समय सीमा बढ़ा दी है। पहले यह तारीख 31 जनवरी 2021 थी। वे सभी किसान जो अभी तक राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत पंजीकृत नहीं हुए हैं, वे समय सीमा के भीतर इसे पंजीकृत करवा लें।

राजीव गाँधी किसान न्याय योजना के लिए क्या पात्रता होनी चाहिए ?

  • योजना में आवेदन करने वाला किसान छत्तीसगढ़ राज्य का स्थायी निवासी होना चाहिए।
  • योजना के लिए केवल सीमांत ,लघु और बड़े किसानों को ही योग्य माना जायेगा ।
  • Kisan Nyay Yojana का लाभ लेने के लिए किसान के पास एक बैंक अकाउंट होना आवश्यक है ।
  • किसान को योजना के तहत केवल उन्ही फसलों की खेती करनी होगी जिन 14 फसलों को इस योजना में जोड़ा गया है ।
  • किसानो द्वारा बोए गए रकबा के आधार पर निर्धारित की गयी राशि प्रति एकड़ की दर से आनुपातिक रूप से उनके बैंक खातें में प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण डीबीटी के माध्यम से सहायता राशि अंतरित किया जाएगा।

Kisan Nyay Yojana में आवेदन के लिए आवश्यक दस्तावेज

योजना में आवेदन करने के लिए आपके पास निम्न दस्तावेजों का होना जरूरी है –

  • आवेदक का आधार कार्ड
  • पहचान पत्र
  • निवास का प्रमाण पत्र
  • मोबाइल नंबर
  • बैंक खाता पासबुक
  • पासपोर्ट साइज़ फोटो
http://informerbro.in

किसान न्याय योजना की सत्यापन की प्रक्रिया

  • अन्य फसलें लगाने वाले किसानों के लिए संबंधित प्राथमिक कृषि ऋण सहकारी समिति में पंजीकरण कराना अनिवार्य होगा।
  • पंजीकरण फॉर्म का सत्यापन ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी द्वारा किया जाएगा।
  • यह सत्यापन वेरिफिकेशन गिरदावरी के डाटा के जरिए किया जाएगा। जो भुइयां पोर्टल पर उपलब्ध होगा।
  • सत्यापन के बाद किसान सहकारी समिति में अपना पंजीकरण करा सकेंगे।
  • पंजीकरण प्रक्रिया 28 फरवरी 2021 से पहले की जानी है।
  • रजिस्ट्रेशन में किसानों को लोन बुक, आधार नंबर, बैंक पासबुक की फोटोकॉपी और रजिस्ट्रेशन फॉर्म जैसे सभी जरूरी दस्तावेज जमा करने होते हैं।
  • राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत केवल उन्हीं फसलों को सहायता प्रदान की जाएगी जो इस योजना के तहत शामिल हैं।
  • जिन किसानों का राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत पंजीकरण नहीं हुआ है, वे लाभ नहीं उठा सकते हैं।
  • इस पूरी प्रक्रिया के तहत प्राप्त होने वाले डेटाबेस के आधार पर सहायता राशि सीधे नोडल बैंक के माध्यम से किसानों के खाते में प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण के माध्यम से भेजी जाएगी।

Kisan Nyay Yojana Online Apply Process

अगर आप भी Kisan Nyay Yojana में ऑनलाइन आवेदन करना चाहते है तो आपको नीचे बताये जा रहर स्टेप्स को फोल्लो करना होगा –

  • सबसे पहले आपको राजीव गांधी किसान न्याय योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • इसके बाद आपके सामने योजना का होम पेज ओपन हो जायेगा ।
  • होम पेज पर आपको राजीव गांधी किसान न्याय योजना अप्लाई ऑनलाइन के लिंक पर क्लिक करना है।
  • अब आपके सामने आवेदन फॉर्म खुल जाएगा।
  • आपको आवेदन पत्र में पूछी गई सभी महत्वपूर्ण जानकारी जैसे आपका नाम, फोन नंबर, पता आदि दर्ज करनी होगी।
  • और आवेदन के साथ में आवश्यक दस्तावेजों को भी अपलोड करे
  • जब सभी जानकारी सही से भर दी जाये और दस्तावेज भी अपलोड हो जाएँ तब सबमिट पर क्लिक करे
  • इस तरह आप किसान न्याय योजना छत्तीसगढ़ के तहत आवेदन कर सकेंगे।

किसान न्याय योजना छत्तीसगढ़ में ऑफलाइन आवेदन कैसे करे ?

किसान न्याय योजना छत्तीसगढ़ में आप ऑनलाइन के साथ साथ ऑफलाइन भी आवेदन कर सकते है इसके लिए आपको जो स्टेप्स फ़ॉलो करने पड़ेंगे वो नीचे बताये जा रहे है –

  • सबसे पहले आपको अपने जिले के कृषि विभाग में जाना होगा।
  • इसके बाद आपको इस कृषि विभाग से किसान न्याय योजना छत्तीसगढ़ का आवेदन फॉर्म लेना होगा।
  • अब आपको आवेदन पत्र में पूछी गई सभी महत्वपूर्ण जानकारी जैसे कि आपका नाम, मोबाइल नंबर, पता आदि सही से भरनी होगी।
  • और आवश्यक दस्त्वेजों को भी संलग्न करे
  • जब आवेदन पत्र सही से भरा जाये तो अब आपको यह आवेदन कृषि विभाग में जमा करना होगा।

RAGHAV KUMAR

इस वेबसाइट पर हम सरकारी योजनाओं से जुडी पोस्ट को शेयर करते है ताकि आपको अपडेट रखा जा सके और सभी योजनाओं का आपको लाभ हो . इस वेबसाइट के माध्यम से सरकारी योजनाओ और अन्य जरूरी जानकारी को हिंदी भाषा में उपलब्ध करवाया जा रहा है

This Post Has 5 Comments

Leave a Reply